शिवराज की धमकी का असर, ‘वंदेमातरम् पर रोक का फैसला वापस

0
69
vandemataram-gayan

बैकफुट पर आए कमलनाथ। सरकार ने विज्ञप्ति जारी कर दोबारा से माह के पहले दिन वन्देमातरम् गाए जाने की घोषणा की। गायन में सरकारी कर्मचारी के अलावा आमजन भी होंगे शामिल। प्रधानमंत्री ने भी गुरुदासपुर रैली में वन्देमातरम् पर रोक का मुद्दा उठाया थाा।       

वन्देमातरम का गायन (फाइल फोटो)vandemataram-gayan

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो।

भोपाल। मध्य प्रदेश सचिवालय में हर माह के पहले दिन गाए जाने वाले वंदेमातरम पर रोक के फैसले को कमलनाथ सरकार ने वापस ले लिया है। कमलनाथ के इस फैसले के खिलाफ भाजपा ने जमकर विरोध किया था। यहां तक पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सरकार को चेतावनी तक दे डाली थी।

मध्य प्रदेश के जनसंपर्क विभाग ने सूचना जारी कर कहा है कि ‘अब फिर से हर महीने के पहले कार्यदिवस पर राष्ट्रगान ‘जन गण मन’ और वंदेमातरम् का गायन होगा।’

वंदेमातरम पर लिए गए नए फैसले में ये भी कहा गया है कि, ‘अब केवल सरकारी कर्मचारी नहीं बल्कि आम जनता भी वंदेमातरम् गाएगी। इसमें पुलिस बैंड का मार्च भी निकाला जाएगा। जिसमें आगे बैंड, पीछे कर्मचारी और सबसे पीछे आमजन शामिल होंगे। यह कार्यक्रम महीने के पहले कार्यदिवस पर सुबह 10:45 बजे आयोजित किया जाएगा।’

उल्लेखनीय है कि मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार द्वारा वंदेमातरम् गाए जाने पर रोक लगाने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश सरकार को धमकी देते हुए कहा था कि, “उनकी पार्टी के सभी 109 विधायक 7 जनवरी को सचिवालय में राष्ट्रीय गीत वंदेमातरम् गाएंगे।” साथ पूरे राज्य में इस आदेश के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन होगा।

इसके अलावा, वंदेमातरम् पर रोक के फैसले पर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने राहुल गांधी से पूछा था कि ‘क्या यह उनका आदेश है?

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here