नवरात्र पर खामोशी, रमज़ान पर सवाल …सिर्फ राजनीति

0
54
religion-politics

लोकसभा चुनाव की घोषणा के बाद केजरीवाल और ममता बनर्जी की पार्टी ने रमजान में वोटिंग का विरोध कर रही है। जबकि 9 अप्रैल से शुरू हो रहे नवरात्र में 11 अप्रैल को पहले चरण का मतदान तय है।

 

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो।

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव तारीखों की घोषणा के बाद कुछ पार्टियों ने इस सवाल खड़ा किया है। केजरीवाल की आम आदमी पार्टी, ममता बनर्जी और वामपंथियों ने चुनाव के समय पर सवाल खड़ा किया है कि रमजान के दौरान मुस्लिम समाज को वोट देने में परेशानी होगी। उन्हें चिंता है कि गर्मी में मुस्लिम मतदाता लाइन में लगकर कैसे वोटिंग करेंगे। लेकिन वे नवरात्र के बारे में एक शब्द नहीं बोले।

इन पार्टियों का आरोप है कि सरकार ने जानबूझकर ऐसा किया है ताकि मुस्लिम बहुल इलाकों में वोटिंग का प्रतिशत कम रहे। हालांकि, देश में चुनाव कब हो, यह पूरी तरह से चुनाव आयोग पर निर्भर है।

उल्लेखनीय है कि लोकसभा चुनाव का तय समय है और उसका एक तय शेड्यूल है। उसी समय में चुनाव कराना चुनाव आयोग की जिम्मेदारी है। इस तरह से सवाल उठाना केवल राजनीति है। रमजान में कोई फैक्टरियां, उद्योग, सरकारी ऑफिस बंद नहीं होते और लोग काम करते हैं। फिर चुनाव को लेकर इस तरह का सवाल उठाना चिन्हित वोट बैंक को संदेश देने के अलावा कुछ नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here