सृष्टि फाउंडेशन का समाज सेवा क्षेत्र का दायरा बढ़ा

0
123
srishthi-foundation-khatu-shyam chaintan baithak

अब पूरे हरियाणा प्रदेश में समाज सेवा के विभिन्न क्षेत्रों में काम करेगी संस्था, श्रीखाटू श्याम में आयोजित दो दिवसीय चिंतन शिविर में निर्णय

हरियाणा प्रदेश कार्यकारिणी का गठन, गुरुग्राम कार्यकारिणी में भी बदलाव

राजस्थान के बवाई में सृष्टि फाउंडेशन के चिंतन बैठक में उपस्थित कार्यकर्ता।srishthi-foundation-khatu-shyam chaintan baithak

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो।

श्रीखाटू श्याम (बवाई)/गुरुग्राम। गुरु द्रोण की नगरी में समाज के विभिन्न उपादानों के अंतगर्त सेवा भाव से काम कर रही सृष्टि फाउंडेशन ने अपने कार्य क्षेत्र का भौगोलिक विस्तार किया है। प्रसिद्ध धार्मिक स्थल श्रीखाटू श्याम में संपन्न दो दिवसीय कार्यकर्ता चिंतन शिविर में कार्यकारिणी ने पूरे हरियाणा क्षेत्र में संस्था के कामकाज के विस्तार का निर्णय लिया है। इस दौरान जहां प्रदेश कार्यकारिणी का गठन किया गया वहीं, गुरुग्राम कार्यकारिणी में दायित्व परिवर्तन संबंधी निर्णय लिए गए। चिंतन बैठक में जहां संस्था के सात सूत्री सेवा क्षेत्र को और अधिक प्रभावी बनाने, विस्तार देने के साथ ही सांगठनिक, सामाजिक-सांस्कृतिक और आर्थिक पक्ष की मजबूती के संबंध में व्यापक चर्चा की गई।

श्रीखाटू श्याम धर्म क्षेत्र के बवाई में संपन्न चिंतन शिविर में संस्था के संरक्षक डॉ. अशोक दिवाकर के संस्तुति से हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. वीके त्रिपाठी को, महासचिव पद पर अवधेश कुमार सिंह, सांगठनिक सचिव मुकेश जांगड़ा, महिला प्रमुख डॉ. शिवानी सोलापुरे को पद की जिम्मेदारी सौंपी गई। साथ ही, संस्था की गुरुग्राम कार्यकारिणी में परिवर्तन को मंजूरी दी गई जिसके अंतर्गत गुरुग्राम प्रभारी के रूप में राजेश पटेल, कार्यकारी अध्यक्ष सत्येंद्र सिंह, महासचिव विष्णु शर्मा, महिला प्रमुख अन्नु पनघल, टीम सदस्य रामाश्रय पाण्डेय को नई जिम्मेदारी दी गई।

srishthi-foundation-khatu-shyam chaintan baithak

चिंतन बैठक में निर्णय लिया गया कि संस्था अपने शिक्षा व पर्यावरण कार्य क्षेत्र का और विस्तार करेगी और उसे ज्यादा प्रभावी बनाने पर जोर दिया जाएगा। समाजसेवा कार्य के लिए अनुदान जुटाने को लेकर विभिन्न पहलुओं पर व्यापक चर्चा की गई और इसके लिए समाज व सरकार के तय मानदंडो के तहत आगे बढ़ने का निर्णय लिया गया।

बैठक में राजेंद्र कुमार, रितेश सिंह, आकांक्षा सिंह, संत नागपाल आदि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here