कृत्रिम ऊंचाई पर चढ़ा शेयर बाज़ार झटका भी नहीं सह पाया

0
50
share-market

दो दिनों में निवेशकों के 6 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा डूबे, बाज़ार अभी नहीं संभलेगा  

share-market
मुंबई/नई दिल्ली। 33 हजार, 34 हजार, 35 हजार के बाद 36 हजार से उपर शेयर बाज़ार पर पहले से ही डर था कि थोड़ी भी नीतियां बदली बाज़ार धड़ाम से नीचे हो जाएगा।  बजट पेश होने के बाद से ही शेयर बाज़ार नीचे आने लगा। लेकिन शुक्रवार को जैसे ही बाजार बजट की बारीकीयों से वाकिफ हुआ बिकवाली शुरू हो गई और शेयर 800 से ज्यादा नीचे गिर गए।
बजट में लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन्स पर टैक्स लगाए जाने से शेयर बाजार में अनिश्चितता दौर शुरू हो गया शेयर बाजार तेजी से नीचे गिरने लगी।
इस गिरवाट के कारण शुक्रवार को ही करीब निवेशकों के करीब पौने पांच करोड़ रुपए स्वाहा हो गए। दो दिनों में करीब 6 लाख करोड़ रुपए का नुकसान हुआ।
जैसा कि पहले से ही अनुमान लगाया जा रहा था कि अब बाजार जरा भी विपरित स्थिति को झेलने के काबिल नहीं है। जैसे ही एलटीसीजी पर टैक्स लगाने की घोषणा बजट में हुई निवेशक बाजार से पैसा निकालने लगे। इसकी वजह से हैवीवेट शेयरों में बिकवाली बढ़ गई है और बाजार धड़ाम से नीचे गिर गया।
सेंसेक्स जहां 840 अंकों की गिरावट के साथ 35, 055.75 पर बंद हुआ। वहीं, निफ्टी भी 256 अंकों की भारी गिरावट के साथ 10,760.60 पर बंद हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here