अयोध्या मामले में संविधान पीठ में पांचों जजों की एक राय  

0
75

चीफ जस्टिस की शांति बनाए रखने की अपील के साथ संविधान पीठ ने फैसला पढ़ना शुरू किया। जमीन पर शिया पक्ष का दावा खारिज। पुरातत्व विभाग की खुदाई में बहुत कुछ मिला। अयोध्या में राम का जन्म पर सभी पक्षों में एकमत, राम के दावे को किसी ने गलत नहीं माना  

Report4India Bureau/ New Delhi.

सुप्रीम कोर्ट के संविधान पीठ के सभी पांचों जज कोर्ट रूम में पहुंच चुके हैं और चीफ जस्टिस ने फैसला पढ़ना शुरू किया है। सबसे पहले जमीन पर शिया और सुन्नी के दावा के मामले में सभी जजों ने एक मत से शिया पक्ष का दावा खारिज कर दिया है।

इसके साथ ही, यह तय हो गया है कि अयोध्या विवाद में सभी जज एक मत पर है। यानी पांचों जज ने मामले में एक राय से फैसला दिया है।

-पुरातत्व विभाग की खुदाई में मिली सामग्री इस्लामिक नहीं।

-हिन्दू हमेशा से पूजा किया करते थे, राम मंदिर की परिक्रमा करते रहे हैं।

-ढ़ाचे के नीचे पुरानी रचना से हिन्दू दावा नहीं माना जा सकता।

-1934 के बाद मौके पर मुसलमानों का दावा नहीं रहा।

-हिन्दू पक्ष सदियों से मौके पर पूजा करते रहे पर मुसलिम पक्ष का दावा ऐसा साबित नहीं हो सका है।

-सुन्नी वक्फ़ बोर्ड को वैकल्पिक जमीन देना जरूरी है।

-तीन माह में केंद्र सरकार एक ट्रस्ट बनाकर मंदिर निर्माण की प्रक्रिया शुरू करे।

-निर्मोही अखाड़े का दावा खारिज-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here