सभी जगह लॉकडाउन पर बेपरवाही पड़ेगी भारी, दर्ज होंगे FIR

0
997
दिल्ली में लॉकडाउन को लोगों ने हल्के में लिया। हर जगह बेपरवाही दिखी।

दिल्ली में आवश्यक सुविधाओं के लिए पास जारी करेगी दिल्ली पुलिस, संबंधित विभागों के माध्यम से आवश्यक सेवाओं में लगे वाहनों और लोगों को जारी होगा पास 

Report4India National Bureau (With agency input)/ New Delhi.

देश की राजधानी दिल्ली सहित विभिन्न राज्यों में सोमवार से लागू लॉकडाउन का लोगों ने जमकर धज्जियां उड़ाई। हर जगह, हर सड़क, चौक-चौराहों पर लोग अपने वाहन लेकर निकल आए जिससे सड़कों पर जाम की स्थिति पैदा हो गई। इस स्थिति को देखते हुए जहां पंजाब ने पूरे राज्य में कर्फ्यू लागू कर दिया है वहीं, दिल्ली सहित कई राज्यों ने सख्ती बरतने के संकेत दिए हैं।

सोमवार को देश के सौ से अदिक जिलों और करीब 15 राज्यों ने अपने यहां लॉकडाउन की घोषण कर रखी थी। यानी, इस दौरान आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों के अलावा अन्य कोई भी व्यक्ति सड़क पर आवागमन नहीं कर सकता है। ऐसे लोग जो अस्पताल व दवा, खाने-पीने के सामानों को खरीदने के लिए जा रहे हो तो उन्हें अकेले में अपने घर के नजदीक खरीदने की भी छूट थी। लेकिन घर का केवल एक ही सदस्य बाहर निकलेगा। लेकिन सड़कों पर जिस तरह से लोग निकले उससे सरकार व प्रशासन के हाथ-पाव फुल गये। इसे देखते हुए सरकारों व पुलिस ने मंगलवार से कई सख्त नियम लागू करने के संकेत दिए हैँ।

दिल्ली पुलिस ने कहा है कि अब दिल्ली व एनसीआर में आने-जाने में लिए कफ्यू पास निर्गत करने का फैसला किया है। इस दौरान आवश्यक सेवाओं से जुड़े विभागों को यह पास उपलब्ध कराए जाएंगे ताकि जरूरी कार्यों में लगें लोगों को यह प्राप्त हो सके। इससे सड़क पर बहाना बनाने वालों पर लगाम लगेगी। दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने भी दिल्ली में सड़कों पर भीड़ को देखकर नाराजगी जताई और कड़े एक्शन लेने के संकेत दिए।

उधऱ, गाजियाबाद और नोएडा में अनावश्यक रूप से सड़कों पर वाहन लेकर निकलने वाले लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए गए हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी लॉकडाउन का पासन नहीं करने पर नाराजगी जताई और लोगों से अपील की कि वे लॉकडाउन को भी गंभीरता से लें।

उल्लेखनीय है कि सोमवार को महाराष्ट्र, और हिमाचल प्रदेश में एक-एक मौत के बाद कोरोना संक्रमण से मरने वालों की तादाद बढ़कर 10 हो गई है। साथ ही, कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या देश में बढ़कर 553 हो गई है।