रेप बाद बेटी की दर्दनाक हत्या पर शांति, बापू पर हंगामा

0
29

गले पर चाकू लगा दो फिर भी ‘भारत माता की जय’ नहीं बोलने वाले, प्रज्ञा ठाकुर और महात्मा गांधी पर हंगामा मचाने वाले हैदराबाद के सांसद ओवैसी का मुंह इस रेप व जघन्य हत्या पर नहीं खुली। सेक्यूलरवादी भी चुप  

रिपोर्ट4इंडिया नेशनल डेस्क/ नई दिल्ली।

तेलंगाना पुलिस ने राजधानी हैदराबाद में एक महिला सरकारी डॉक्‍टर के साथ कथित रेप, हत्‍या और जला देने के 4 आरोपियों को अरेस्‍ट कर लिया है। गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान मोहम्मद आरिफ, नवीन, चिंताकुंता केशावुलु और शिवा के रूप में हुई है। इस बीच, पीड़‍िता की मां ने सभी दोषियों को सबके सामने जिंदा जलाने की मांग की है। परिवार वालों ने यह भी कहा है कि साइबराबाद पुलिस उन्‍हें दौड़ाती रही। अगर उसने तत्‍काल कार्रवाई की होती तो पीड़‍िता को जिंदा बचाया जा सकता था।

पीड़‍िता की मां ने कहा, ‘मेरी बेटी बहुत मासूम थी। मैं चाहती हूं कि दोषियों को जिंदा जला दिया जाए।’ मां ने बताया कि घटना के बाद मेरी छोटी बेटी थाने में शिकायत दर्ज कराने पहुंची लेकिन उसे दूसरे थाने शमशाबाद भेज दिया गया। पुलिस ने कार्रवाई की बजाय कहा कि यह मामला उसके क्षेत्र में नहीं आता है। बाद में पीड़‍िता के परिवार के साथ कई सिपाही लगाए गए और सुबह 4 बजे तक तलाशी अभियान चलाया गया लेकिन उसका पता नहीं चल पाया।

पीड़‍िता की बहन ने कहा, ‘एक पुलिस स्‍टेशन से दूसरे पुलिस स्‍टेशन जाने में हमारा काफी समय बर्बाद हो गया। अगर पुलिस ने समय बर्बाद किए बिना कार्रवाई कर दी होती तो मेरी बहन आज जिंदा होती।’ इस बीच हैदराबाद पुलिस ने कहा है कि इस हत्‍याकांड में शामिल आरोपियों को अरेस्‍ट कर लिया गया है। इस बीच राष्‍ट्रीय महिला आयोग ने पूरे मामले की जांच के लिए एक जांच समिति का गठन किया है।

राष्‍ट्रीय महिला आयोग की चेयपर्सन रेखा शर्मा ने कहा कि यह समिति दोषियों को सजा मिलने तक चैन से नहीं बैठेगी। उन्‍होंने हैदराबाद पुलिस से विस्‍तृत कार्रवाई रिपोर्ट मांगी है। इस बीच पुलिस ने संदेह जताया है कि डॉक्‍टर के शव को कालीन में लपेटकर फ्लाईओवर के नीचे ले जाया गया, जहां उसके में आग लगा दी गई। महिला डॉक्‍टर की लाश इतना ज्‍यादा जल गई थी कि पहचान में नहीं आ रही थी। पीड़‍िता ने गणेश जी का लॉकेट पहना था, जिससे शव की पहचान हो सकी।

महिला डॉक्टर का शव हैदराबाद-बेंगलुरु हाइवे पर मिला। हैवानियत की इंतहा यह थी कि आरोपियों ने डॉक्‍टर की लाश को जलाकर एक फ्लाईओवर के नीचे फेंक दिया था। दरअसल, महिला डॉक्‍टर रात में अपने घर लौट रही थीं, इसी दौरान रास्‍ते में उनकी बाइक पंक्चर हो गई थी। पुलिस को संदेह है कि इस दौरान उन्हें रात में अकेला देखकर वारदात को अंजाम दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here