प्रियंका वाड्रा की अलवर गैंगरेप पर चुप्पी …’लड़की हूं …राजस्थान में लड़ना मना है’

0
100

अलवर में मूक-बधिर नाबालिग के साथ गैंगरेप पर राजस्थान सरकार का रेप की वारदात को रोकने में असमर्थता और कांग्रेस शासित राज्यों में महिलाओं पर उत्पीड़न की घटनाओं से प्रियंका वाड्रा के मुंह मोड़े जाने पर बीजेपी का तीखा प्रहार

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो/ नई दिल्ली। 

राजस्थान के अलवर में मूक-बधिर नाबालिग के साथ गैंगरेप की वारदात पर प्रियंका गांधी वाड्रा की चुप्पी पर बीजेपी ने उनकी उत्तर प्रदेश की पूरी राजनीति पर पानी फेर दिया है। बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने इस मामले को लेकर प्रियंका व राहुल गांधी सहित राजस्थान की कांग्रेस सरकार से कई सवाल पूछे हैं और कहा कि ये सभी मनुष्यता, संवेदनशीलता से कोई सरोकार नहीं रखते। इन्हें सिर्फ राजनीति करनी है वह भी दूसरे पीर्टी की शासित राज्यों के खिलाफ।

संबित पात्रा इस मुद्दे पर मीडिया के सामने मुखातिब हुए और कहा कि इस नृशंस वारदात पर प्रियंका वाड्रा की चु्प्पी समाज को हिला देने वाली घटना है। कांग्रेस परिवार की तीन चेहरों में एक प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश में महिलाओं को मोहरा बनाकर अपनी राजनीति चमकाने की कोशिश कर रहीं हैं। उन्होंने कहा, दुख कि बात यह है कि जो प्रियंका वाड्रा अपने को महिला चैम्पियन की तरह पेश करने की कोशिश करती हैं, वारदात के दिन घटना के पास ही मौजूद थीं। वह अपने पति रॉबर्ट वाड्रा के साथ रणथम्भौर के जंगलों में अपनी जन्मदिन की पार्टी मना रहीं थीं और अलवर की सड़क पर मूक-बधर नाबालिक बेटी के साथ नृशंस गैंगरेप की वारदात के बाद कार से सड़क पर फेंक दिया जाता है। खून से लथपथ उस लड़की को न्याय दिलाने में प्रियंका वाड्रा सामने आयेंगी? क्या वह पीड़िता से मिलने जायेंगी। या प्रियंका वाड्रा ने यह तय कर लिया है कि राजस्थान में लड़की हूं…इसलिए लड़ना मना है।

संबित पात्रा ने कहा, रेप की वारदात रोकने पर राजस्थान सरकार खुद को असमर्थ समझ रही है। तभी तो सरकार में मंत्री कह रहीं हैं कि राजस्थान सरकार ऐसी घटनाओं पर अकेले रोक नहीं लगा सकती। इसीलिए इस सरकार में लगातार महिलाओं का उत्पीड़न हो रहा है, लगातार रेप की वारदात बढ़ रहीं हैं और प्रियंका गांधी राजस्थान की इन घटनाओं पर चुप्पी साध लेती हैं। जिस सीएम अशोक गहलोत को प्रियंका वाड्रा ने अपने समर्थन से राजस्थान के सीएम पद की कुर्सी पर बैठाया वह, सीएम अशोक गहलोत से कुछ नहीं पूछतीं। लेकिन राजस्थान, उत्तर प्रदेश सहित देश की महिलाएं प्रियंका वाड्रा से उनकी चुप्पी पर सवाल पूछ रहीं हैं।

उल्लेखनीय है कि बीते मंगलवार 11 जनवरी की रात को अलवर में हुई गैंगरेप की घटना ने दिल्ली के निर्भया कांड की याद दिला दी है। निर्भया की तरह दरिंदों ने नाबालिग के साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम देकर पीड़िता के प्राइवेट पार्ट को बुरी तर जख्मी कर दिया। दरिंदों ने नुकीले हथियार से पीड़िता के नाजुक अंगों पर हमला किया। पीड़िता को जयपुर के जेके लॉन अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया है।

माना जा रहा है कि वारदात को अंजाम निर्भया की तरह ही एक निजी बस में दिया गया है। सीसीटीवी फुटेज में तिजारा फाटक ओवरब्रिज से शाम सात बजे एक निजी बस निकलती हुई दिखाई दे रही है। उस समय तक पीड़िता घटनास्थल पर नहीं थी। बस के गुजरने के बाद पीड़िता ओवरब्रिज के नीचे पाई गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here