ये ‘विश्वास’ कि, वोटिंग…कलंक धोने का समय, …भरोसे की ‘हत्या’ के बदला का समय

0
1348
कुमार विश्वास (फाइल)

आम आदमी पार्टी के संस्थापक सदस्य रहे प्रसिद्ध कवि कुमार विश्वास ने केजरीवाल के विश्वासघात पर दिल्ली की जनता से निवेदन किया कि वोटिंग कर उसका बदला लें… 

Report4India Bureau/ New Delhi.

2015 में 70 में से 67 सीट पाकर सत्ता के नसे में चूर अरविंद केजरीवाल ने एक-एक कर पार्टी के संस्थापक सदस्यों को पार्टी से बाहर निकाला और अपने आगे-पीछे चाटुकारों, दलालों को सरपरस्ती दी, उन्हें आगे बढ़ाया। प्रशांत भूषण, योगेंद्र यादव को बाहर का रास्ता दिखाने के बाद केजरीवाल ने कुमार विश्वास को किनारे कर कांग्रेस पार्टी के खंजाची रहे पांच हजार करोड़ के संपत्ति के मालिक अपने जाति के सुशील गुप्ता को राज्यसभा का सांसद बना दिया।

कुमार विश्वास ने इसका पुरजोर विरोध किया और कहा कि जिस सुशील गुप्ता को हमारे कार्यकर्ताओं ने विधायक चुनाव में हरा दिया उसे केजरीवाल ने सांसद बनाकर सम्मानित किया। उन्होंने कहा, जिसके लिए हम आंदोलन त्यागकर राजनीति में आएं, केजरीवाल ने सत्ता मिलने के बाद उस ‘संप्रभू’ को ही नष्ट कर दिया जो पारंपरिक राजनीति के अंधियारे को दूर करने की ताकत देता था।

वोटिंग के मौके पर कुमार विश्वास ने दिल्ली की जनता का आह्वान किया कि यह पांच सालों का कलंक घोने का समय है।