अमेरिकी रिपोर्ट : नीरव मोदी ने बैंकों से लूटा पैसा अमेरिकी कंपनियों में लगाया

0
89
nirav-modi-pnb scam

हीरा कारोबारी नीरव मोदी ने ब्रिटिश वर्जिन आइसलैंड फर्म के साथ मिलकर भारत से लेटर ऑफ इंडरटेकिंग के तहत कई फर्जी कंपनियों के जरिए 576 करोड़ रुपये की हेरफेर की।

nirav-modi-pnb scam

रिपोर्ट4इंडिया/एजेंसी इनपुट सहित।

नई दिल्ली। अमेरिका की बैंकरप्सी कोर्ट की ओर से नियुक्त एग्जामिनर जॉन जे कार्ने ने नीरव मोदी की घपलों पर अपनी रिपोर्ट में कई बातों का खुलासा किया है। उन्होंने लिखा है कि हीरा कारोबारी नीरव मोदी ने ब्रिटिश वर्जिन आइसलैंड फर्म ने मिलकर भारत से लेटर ऑफ इंडरटेकिंग के तहत कई फर्जी कंपनियों के जरिए अमेरिकी कंपनी ट्विन फील्ड इनवेशमेंट लिमिटेड की मदद से 576 करोड़ रुपये की हेरफेर की। रिपोर्ट में कहा गया है कि नीरव की फर्म ‘अ जैफ इंक’ जिसे नीरव की बहन पूर्वी मोदी मेहता नियंत्रित करती थीं।

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने अपनी रिपोर्ट में खुलासा किया है कि बैंकरप्सी कोर्ट के एग्जामिनर की रिपोर्ट में कई संदिग्ध इकाइयों की सूची थी। रिपोर्ट में अमेरिका में बैंकों द्वारा किए गए लोन के भुगतान मामले का भी जिक्र है। इन सौदों में नीरव मोदी के निर्देश पर हीरे और पैसे के लेनदेन की बात की गई है।

उल्लेखनीय है कि हीरा कारोबारी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी पर देश के राष्ट्रीकृत बैंक पंजाब नेशनल बैंक को 13600 करोड़ रुपये की चपत लगाये जाने का आरोप है। इस मामले में देश की कई एजेंसियां जांच कर रही हैं। पंजाब नेशनल बैंक का आरोप है कि नीरव और मेहुल ने फर्जी फॉरन लेटर ऑफ क्रेडिट के जरिए बैंक को चूना लगाया है। नीरव मोदी और मेहुल चोकसी दोनों ने ही जनवरी 2018 में देश छोड़ दिया था। नीरव मोदी फिलहाल अमेरिका में है जबकि मेहुल चोकसी ने अंतिगुया और बार्बूडा की नागरिक्ता ले ली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here