कांग्रेस के ‘चढ़ते’ ही ‘छा’ जाने की कोशिश में ‘दामादजी’

0
64
rabert-vadra

तीन दिन पहले प्रवर्तन निदेशालय की हुई छापेमारी पर कांग्रेस के चुनाव जीतते ही वाड्रा ने मोदी सरकार पर हमला किया। केंद्र में कांग्रेस की सरकार के दौरान बेशुमार धन-दौलत एकत्रित करने वाले वाड्रा छापेमारी पर बोले, मेरे परिवार और बच्चों को परेशान किया जा रहा है।

rabert-vadra

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो।

नई दिल्ली। कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बहनोई ने छापेमारी के तीन दिन बाद इसपर अपना मुंह खोला है। वाड्रा ने अपना मुंह तब खोला जब तीन राज्यों में कांग्रेस की जीत हुई। सरकार की योजनाओं की पूर्व जानकारी प्राप्त कर राजस्थान में सस्ते दर पर बड़े पैमाने पर जमीन खरीद बाद में उसे महंगी कीमत पर कंपनियों के बेचने के साथ ही रक्षा सौदों में कथित रूप से रिश्वत लेने के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के छापेमारी पर रॉबर्ट वाड्रा ने बुधवार को अपना मुंह खोला।

मामले में रॉबर्ट वाड्रा ने कहा, केस करीब 7-8 साल से चल रहा है। लेकिन पिछले पांच साल में परेशानी बढ़ी है। यह बात बिलकुल ठीक कहा रार्बट वाड्तरा ने। करीब पांच साल पहले केंद्र व राजस्थान में कांग्रेस की सरकार थी। तब भला वाड्रा कैसे परेशान हो सकते थे। बल्कि, इस दौरान पूरी सरकारी मशीनरियां उनका सहयोग कर रही थीं।

आगे वाड्रा ने कहा,  उनके पास जितने नोटिस आए हैं, सभी का जवाब दिया है। ईडी ने जो भी पूछा मैंने सही जवाब दिया है, मैं भागने वाला नहीं हूं, इसी देश में हूं। हालांकि, ईडी का कहना है कि वाड्रा लगातार नोटिसों का जवाब नहीं दे रहे थे और जांच से भी भाग रहे हैं।

रॉबर्ट वाड्रा बोले कि जो भी मुझे झेलना है, मैं झेल रहा हूं। लेकिन मेरे परिवार को भी परेशान किया जा रहा है, चिंता के कारण मेरी मां स्ट्रेस में हैं और पिछले तीन दिन से अस्पताल में हैं। हमारे ऑफिस के ताले तोड़ दिए गए और बिगाड़ दिया गया।

उन्होंने कहा कि जो मामला कोर्ट में है उसपर बात करना सही नहीं है, मैं कानून से ऊपर नहीं हूं। मैं हर सवाल का जवाब देने के लिए तैयार हूं। ईडी जो कर रही है वह ज्यादती है।

उल्लेखनीय है कि ईडी ने बीते सोमवार को दिल्ली के सुखदेव विहार स्थित रॉबर्ट वाड्रा के ऑफिस में छापेमारी की थी। यह छापेमारी की कार्रवाई रक्षा सौदे में कथित रूप से रिश्वत लेने से मामले में थी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here