दीपावली पूजन का चौघड़िया मुहूर्त श्रेष्ठ

0
119
श्रीगणेश-श्रीलक्ष्मी-श्रीकुबेर

शुभ लग्न- दोपहर 1.29 से 2 .53 बजे तक। अमृत लग्न- शाम 7.17 बजे से 8.53 बजे तक। चर लग्न 8.53 से 10.29 बजे तक। प्रदोष लग्न 5.40 से 8.14 बजे तक।

report4india/ Religion Desk.

नई दिल्ली। दिपावली का त्यौहार पूरे पारंपरिक तरीके से देश में मनाया जा रहा है। यह त्यौहार श्रीलक्ष्मी-गणेश, कुबेर पूजन का है। दिवाली के मौके पर श्रीलक्ष्मी पूजन के चार मुहूर्त श्रेष्ठ माना जाता है जिसे चौघड़िया मुहूर्त कहा जाता है। शास्त्रों के मुताबिक वैसे तो चौघड़िया मुहूर्त पूजन के लिए सुभ मुहूर्त है। परंतु, प्रदोष काल या शाम और रात के बीच का काल का विशेष महत्व है। इस काल में जो आज दिपावली के दिन शाम 5.40 मिनट से 8.14 मिनट तक है, श्रेष्ठ है।

इस प्रकार करें दीपावली पूजन-

1. पूर्व दिशा या ईशान कोण में चौकी रख उसपर लाल या गुलाबी वस्त्र बिछाएं
2. पहले गणेशजी की मूर्ति रखें, फिर उनके दाहिने तरफ श्रीलक्ष्मी जी का रखें
3. स्वयं आसान पर बैठे अपने चारों ओर जल छिड़कें 
4. संकल्प के साथ पूजा आरम्भ करें। एक मुखी घी का दीपक जलाएं
5. मां लक्ष्मी और भगवान गणेश को फूल और मिठाइयां अर्पित करें
6. पहले भगवान गणेश फिर मां लक्ष्मी के मन्त्रों का जाप करें। अंत में आरती कर शंख ध्वनि करें
9. घर के दीपक के अलावा कुएं के पास, पीपल के पास और मंदिर में भी दीपक जलाएं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here