बुलंदशहर में हिंसा, पुलिस इंस्पेक्टर और प्रदर्शनकारी की मौत

0
77
bulandshahar-vilance

गोकशी को लेकर कई गांवों के लोग पुलिस चौकी पहुंचे और प्रदर्शन करने लगे। पुलिस से झड़प से हुआ बवाल। प्रदर्शनकारियों को काबू करने के लिए पुलिस ने फायरिंग की।

बुलंदशहर में हिंसा और आगजनी के बाद का घटनास्थल के हालात।bulandshahar-vilance

रिपोर्ट4इंडिया संवाद।

बुलंदशहर। उत्तर प्रदेश के संवेदनशील शहर बुलंदशहर में गोकशी को लेकर भारी हिंसा हुई जिसमें एक पुलिस इंस्पेक्टर और एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई। जबकि कुछ पुलिसकर्मी और लोग जख्मी हैं। क्रोधित लोगों ने पुलिस चौकी को आग के हवाले कर दिया। पुलिस ने हालात नियंत्रण को लेकर फायरिंग की। मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है। फिलहाल हालात नियंत्रण में है।

बताया जाता है कि जिले के स्याना थाना क्षेत्र के चिंगरावठी में गोकशी किए जाने की बात आग की तरह फैली। इससे नाराज बड़ी संख्या में आसपास के कइ गावों के लोग चिंगरावठी पुलिस चौकी पहुंचे और विरोध करने लगे। बाद में यहां जमकर आगजनी व हिंसा हुई। पुलिस ने फायरिंग की। हिंसा में एक पुलिस इंस्पेक्टर और एक प्रदर्शनकारी की मौत की खबर है।

घटना के संबंध में प्रदेश के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर आनंद कुमार ने बताया कि फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है। घटना सोमवार सुबह करीब साढ़े 12 बजे की है। घटनाक्रम को लेकर कई बातें सामने आ रही है। लोग गोकशी की सूचना पर पुलिस चौकी चिंगरावठी पहुंचे थे। तभी वहां कुछ ग्रामीण ट्रैक्टर-ट्राली में जानवरों का शव लोकर आ गए और चौकी पर पथराव होने लगा।

एडीजी के मुताबिक, ‘झड़प के दौरान इंस्पेक्टर सुबोध के सिर पर कोई भारी वस्तु आकर लगी, जिससे खून ज्यादा बहने से उनकी मौत हो गई।’ एक प्रदर्शनकारी की मौत की भी खबर है। एडीजी ने बताया कि मौके पर फायरिंग की अपुष्ट खबर है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

उन्होंने लोगों से संयम बरतने की अपील की और किसी भी तरीके से अफवाह न फैलाने को कहा है। आनंद कुमार के अनुसार, झड़प में डीएसपी समेत 5-6 पुलिसकर्मी और कुछ ग्रामीण घायल हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here