जिन्होंने महकमे को शर्मसार किया, उन्हें सज़ा देने को हम संकल्पबद्ध : उप्र डीजीपी

0
78
op-singh-dgp-uttar-pradesh

विवेक तिवारी हत्याकांड पर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओमप्रकाश सिंह की बेहद कड़ी प्रतिक्रिया, घटना को अंजाम देने का आपराधिक बर्ताव अक्षम्य

राजधानी लखनऊ में रविवार को विवेक तिवारी हत्याकांड पर मीडिया से मुखातिब डीजीपी ओमप्रकाश सिंह।op-singh-dgp-uttar-pradesh

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो।    

लखनऊ। देश के सबसे बड़े सूबे की राजधानी में जिस प्रकार से पुलिसकर्मियों ने गोली मार कर मल्टीनेशनल कंपनी के अधिकारी की हत्या की है, उससे शांति-व्यवस्था बनाए रखने और जनता की हिफाजत के लिए गठित सरकारी बल के ऐसे स्याह चेहरा देख देश की जनता स्तब्ध है। उत्तर प्रदेश पुलिस की अब जिम्मेदारी बन गई है कि वह इंसाफ दिलाकर अपने इस दाग को जल्दी छुड़ाए। निजी कंपनियां भी डरीं हुईं हैं कि राजधानी में 24 घंटे काम करने वाले उनके कर्मचारियों की सुरक्षा किसके भरोसे होगी, जब पुलिस ही सड़क चलते हत्या करने लगे।

मृतक विवेक तिवारी (फाइल फोटो) इसी कार में सवार थे जब उन्हें सामने से गोली मारी गई।vivek-tiwari-lucknow

हालांकि, इस घटना के प्रकाश में आने के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस ने बिना किसी संकोच के इसे आपराधिक कृत्य करार दिया और आरोपी पुलिसकर्मियों को तुरंत गिरफ्तारी कर जेल भेज दिया गया। लखनऊ के एसएसपी ने भी पत्रकारों के सामने कहा कि यह तैश में आकर हत्या करने का मामला है। इस घटना पर अफसोस जताते हुए प्रदेश के पुलिस महकमे के मुखिया ओमप्रकाश सिंह ने भी साफ कहा कि पुलिसकर्मियों का यह आपराधिक कृत्य अक्षम्य है। उन्होंने कहा, कीमती जान के नुकसान की कोई माफी नहीं हो सकती। इस घटना को लेकर वे बेहद गमजदा हैं। हम ऐसे वर्दीधारियों को सजा दिलाने को संकल्पबद्ध हैं, जिन्होंने हमें शर्मसार किया है।

पुलिस प्रमुख के रूप में उन्होंने मार्मिक तरीके से अपनी बात रखते हुए कहा कि वे तिवारी के दो छोटी बेटियों, पत्नी व परिवार के अन्य सदस्यों के बारे में सोचकर भी दुखी हैं।

उधर, लखनऊ जोन के अपर पुलिस महानिदेशक राजीव कृष्ण पीड़ित परिजनों से मिले। उन्होंने कहा कि एसआईटी सभी परिस्थितियों की जांच करेगी। पत्रकारों के सवाल के जबाव में उन्होंने कहा कि पुलिस बल में ऐसे गलत तत्व बहुत कम हैं, प्रदेश के पास अच्छा पुलिस बल है। बल में जो गलत तत्व हैं उनके खिलाफ कार्रवाई हमारी जिम्मेदारी है।

उल्लेखनीय है कि राजधानी के गोमती नगर क्षेत्र में रात को दो पुलिसकर्मियों ने आईफोन कंपनी एप्पल के मार्केटिंग अधिकारी को गोली मार कर हत्या कर दी थी। आरोपी दोनों पुलिसकर्मी प्रशांत चौधरी और संदीप के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर पुलिस बल से बर्खास्त कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here