गुरुग्राम में ऑक्सीजन टोकन सिस्टम जैसे …’गर्म तवे पर एक बूंद’  

0
213
grrgaon-admin

– नगर निगम के सेक्टर-34, सेक्टर-42 तथा सिविल अस्पताल के सामने ओल्ड ऑफिस स्थित ऑक्सीजन टोकन के लिए बनाए गए  एक-एक काउंटर

– एक काउंटर से प्रतिदिन 30 टोकन जारी होंगे

– टोकन प्राप्त करने उपरांत स्टार गेसिज प्लॉट नम्बर-324, सेक्टर-7 मानेसर से मिलेगी ऑक्सीजन

report4india/ Gurugram

लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन वितरण प्रबन्धन प्रणाली के तहत नगर निगम गुरुग्राम एवं जिला प्रशासन ने टोकन सिस्टम शुरू की है। नगर निगम के सेक्टर-34, सेक्टर-42 तथा सिविल अस्पताल के सामने पुराने निगम कार्यालय में स्थित नागरिक सुविधा केंद्रों (सीएफसी) में तीन काउंटर अलग से बनाए गए हैं। इन काउंटरों पर सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन के लिए टोकन दिए जाएंगे।

प्रत्येक काउंटर से प्रतिदिन 30 टोकन जारी होंगे। अर्थात तीनों कॉउंटरों से प्रतिदिन 90 टोकन जारी किए जाएंगे। टोकन की वैधता 2 दिन की होगी तथा टोकन प्राप्त करने उपरांत स्टार गेसिज प्लॉट नम्बर-324, सेक्टर-7 मानेसर से लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन प्राप्त की जा सकेगी। ये टोकन इंडीविजुअल के लिए होंगे। इसके लिए मरीज की आरटीपीसीआर रिपोर्ट, आधार कार्ड, एड्रेस प्रूफ तथा डॉक्टर की रिपोर्ट साथ लेकर जाना अनिवार्य किया गया है।

प्रशासन का मानना है कि इस प्रणाली से एक और जहां लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन के लिए लोगों को लंबी लाइन में नहीं खड़ा होना पड़ेगा, वहीं दूसरी ओर ऑक्सीजन वितरण प्रणाली में और आधिक सुधार होगा। परंतु, जिस शहर में कोरोना के हजाराों सक्रिय मामले हैं, मरीज अस्पतालों व घरों में हैं, वहां पर प्रतिदिन मात्र 90 टोकन जारी करने का मतलब है तय सेंटरों पर हजारों की भीड़ को दावत देना। आखिर किस पैमाने पर प्रशासन ने प्रतिदिन 90 ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए टोकन जारी करने का निर्णय लिया है, समझ से परे हैं। लोगों का मानना है कि बस यह दिखावा व खानापूर्ति के अलावा कुछ भी नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here