पंचायती राज प्रणेता ‘बलवंत राय मेहता शहीदी दिवस’ संकल्प दिवस के रूप में मनाया

0
575
नई दिल्ली स्थित मयूर विहार फेज-1 में रविवार को बलवंत राय मेहता को भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई।

श्रद्धांजलि समारोह में याद किये गये बलवंत राय मेहता। देश में पंचायत सुधारों के लिए हमेशा याद किए जाएंगे स्व. मेहता।

Report4india bureau/ New Delhi.

अखिल भारतीय पंचायत परिषद (एआईपीपी) के संस्थापक व गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री बलवंत रॉय मेहता के 56वें शहादत दिवस को संकल्प दिवस के रूप में मनाया गया। इस मौके पर मयुर विहार फेज-एक स्थित एआईपीपी प्रांगण में श्रद्धांजलि समारोह का आयोजन किया गया। इस दौरान स्व. मेहता के चित्र पर माल्यार्पण कर उनके व्यक्तित्व व कृतित्व को याद किया गया। स्व. बलवंत राय मेहता भारत में पंचायत सुधारों के लिए हमेशा याद किए जाएंगे।

उल्लेखनीय है कि बलवंत राय मेहता के सिफारिश पर तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने 73वां-74वां संविधान संशोधन किया गया जिसमें पंचायतों व शहरी निकायों को अधिकारों से नवाजा गया। इस प्रक्रिया के तहत देश में सत्ता के विकेंद्रीकरण का मार्ग प्रशस्त हुआ।  इस संशोधन के तहत एक सूची बनाई गई जिसमें 29 विषय शामिल किये गये।

श्रद्धांजलि सभा में उपास्थित लोगों ने संकल्प लिया कि जिन राज्यों में ये 29 विषय नहीं शामिल नहीं किये गये हैं, उन्हें शामिल कराने के लिए ऑल इण्डिया पंचायत परिषद आवाज उठाएगी और देशव्यापी अभियान चलाएगी।

इस दौरान परिषद के कार्यवाहक अध्यक्ष डॉ. अशोक चौहान ने कहा कि बलवंत राय मेहता का निधन आज ही के दिन 1965 में भारत-पाकिस्तान युद्ध के समय दुश्मन देश के षड्यंत्र की वजह से एक विमान हादसे में हुई थी। इसीलिए इसे हम शहादत दिवस के रूप में मनाते हैं।

इस दौरान महामंत्री ध्यानपाल सिंह ने कहा कि पंचायतों को और सशक्त बनाने के लिए सरपंचों को और वित्तीय शक्तियां व वेतन-भत्ते आदि दिए जाने की जरूरत है। अखिल भारतीय पंचायत परिषद इसके लिए अभियान चलाएगी।