सुशासन-कानून राज स्थापना, विकास व गरीब कल्याण को समर्पित साढ़े चार वर्ष : योगी आदित्यनाथ 

0
293
उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ प्रेस को संबोधित करते हुए।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी सरकार के साढ़े चार साल के कार्यकाल का लेखा-जोखा जनता के सामने रखा 

रिपोर्ट4इंडिया ब्यूरो/ लखनऊ-नई दिल्ली। 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने रविवार को पूरी कैबिनेट के साथ अपनी सरकार के साढ़े चार साल के कार्यकाल में किये गये कार्यों को जनता के सामने रखा। उन्होंने हर एक कार्यक्रम व क्रियान्वयन की विस्तृत चित्र प्रेस कांफ्रेंंस के माध्यम से जनता के सामने प्रस्तुत किये। उन्होंने सरकार द्वारा जारी लोक व गरीब कल्याणकारी योजनाओं, कानून-व्यवस्था की स्थिति, सरकारी नौकरी व रोजगार पैदा करने को लेकर किये गये कार्यों की चर्चा, राज्य की आर्थिक बढ़ोतरी को लेकर निवेश व इज ऑफ डुइंग बिजनेस के पैमाने पर राज्य को सबसे उपर लेकर जाना, महिला सुरक्षा, अवैध व सरकारी परिसंपत्तियों पर अवैध कब्जे के खिलाफ कार्रवाई कर 1800 करोड़ रुपए की भूमि की मुक्ति, कुंभ का सफल आयोजन, राम मंदिर निर्माण संबंधी व्यवस्था बनाना, पारदर्शी प्रशासन, ट्रांसफर-पोस्टिंग का धंधा बंद, देश की संस्कृति व सभ्यता के अनुरूप आचरण, धार्मिक नगरों में आराध्य के प्रति श्रद्धा का भाव पैदा करने के लिए सुविधाओं का विस्तार, कोरोना काल में गरीबों के लिए निशुल्क राशन की व्यवस्था, गंगा, पूर्वांचल व बुदेलखंड एक्सप्रेस-वे का निर्माण, आगरा में मेट्रो का परिचालन आदि कई कार्यों को जनता के सामने रखा।

मुख्य बातें-

-सुरक्षा व कानून-व्यवस्था का बेहतर वातावरण का निर्माण, आपराधियों को कानून के तहत दंड, महिला सुरक्षा के लिए काम, अवैध परिसंपतियों और सरकारी भूमि पर अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई।

-पारदर्शी व त्वरित निर्णय लेने की क्षमता से ‘इज ऑफ डुइंग बिजनेस’ में 24वें स्थान से पहले स्थान पर पहुंचे। रिकॉ्र्ड साढ़े चार लाख करोड़ रुपए का निवेश हुआ। रोजगार पैदा हुआ।

-रिकॉर्ड एक लाख 31 करोड़ रुपए प्रतिवर्ष का एक्सपोर्ट राज्य से हो रहा। 

1800 करोड़ की सरकारी संपत्ति की जब्ती

-प्रदेश में तीन बड़े एक्सप्रेस-वे का निर्माण, राज्य में नेशनल हाईवे का जाल, सड़कों का चौड़ीकरण

-राम मंदिर निर्माण को लेकर सरकार की तरफ से तेजी से कार्यवाही और उपर्यक्त माहौल की अतिशीघ्र स्थापना

-साढ़े चार साल में प्रदेश दंगा मुक्त व भयमुक्त हुआ।

भाई-भतीजेवाद और भ्रष्टाचार के बिना साढ़े चार लाख सरकारी नौकरी। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here