YOGI Adityanath : उप्र में कोरोना महामारी एक्ट में दर्ज सभी मुकदमे वापस लेंगे 

0
531
उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ प्रेस को संबोधित करते हुए (फाइल)।

सीएम योगी का जनहित के मद्देनज़र कोविड-19 प्रबंधन के लिए गठित टीम-9 की बैठक में बड़ा फैसला

रिपोर्ट4इंडिया, लखनऊ।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश में कोरोना महामारी एकट के तहत दर्ज सभी मुकदमे वापस लेने का फैसला लिया है। इसके लिए गृह विभाग को आदेश जारी कर दिये गये हैं। साथ ही मुख्यमंत्री योगी ने कहा प्रदेश के लोगों के  व्यापक हित को ध्यान में रखते हुए फैसला  लिया है। गृह विभाग को इस संबंध में आवश्यक कार्यवाही करने संबंधी आदेश भी जारी कर दिए गए हैं।

मुख्यमंत्री ने कोविड-19 प्रबंधन के लिए गठित टीम-9 की बैठक में उपरोक्त फैसला लिया। उन्होंने बैठक में वरिष्ठ अधिकारियों को कोविड-19 महामारी के उल्लंघन से जुड़े मुकदमों को व्यापक जनहित में खत्म करने के आदेश दिए।

उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने कोविड-19 महामारी के दौरान बिना किसी कारण घर से बाहर निकलने तथा भीड़ एकत्रित करने सहित कोविड-19 प्रोटोकॉल के विभिन्न उल्लंघनों के मामलों में हजारों की संख्या में मुकदमे दर्ज किए गये थे। राजनीतिक आयोजनों को लेकर बड़ी संख्या में ऐसे मामले दर्ज हुए थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बाद सरकार और लोगों के प्रयास से संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण है। प्रदेश के 31 जिलों में कोविड-19 संक्रमण का एक भी मरीज नहीं है। प्रदेश में अब तक 10,91,52,448 लोगों को कोविड-19 टीके की खुराक दी जा चुकी है।

बैठक में योगी ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि आगामी पांच अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लखनऊ आगमन के सिलसिले में सभी तैयारियां समय से पूरी कर ली जाएं और कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले सभी लोगों के लिए आरटीपीसीआर जांच अनिवार्य की जाए।