योगीराज में विंन्धवासिनी मंदिर के मुख्य पुजारी को पुलिसवालों ने मिलकर पीटा- VIDEO

0
508
मिर्जापुर के विन्धवासिनी मंदिर के पुजारी को पीटती उप्र पुलिस

आरोपी पुलिसवालों पर कार्रवाई की जगह पुलिस अधिकारी उन्हें बचाने में जुटे। पुलिसवालों पर चंदौली के डीएम को पूजा कराने का आरोप

रिपोर्ट4इंडिया / वाराणसी.

प्रसिद्ध शक्तिपीठ विन्धवासिनी मंदिर के प्रांगण में पुलिसवालों ने मिलकर मंदिर के मुख्य पुजारी की पिटाई की। पुजारी को पीटे जाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। जिस प्रकार से पुजारी को पुलिवालों ने पीटा और उनके साथ अभद्रता की उसे देख लोग आक्रोशित हैं। जिस पुजारी को पुलिसवालों ने पीटा वह प्रसिद्ध अभिनेता अमिताभ बच्चन के पारिवारिक पुजारी हैं। वे राहुल गांधी के भी पुजारी रहे हैं।

बताया जाता है कि मंदिर में लंबे तालाबंदी के बाद रविवार को पुलिसकर्मियों ने चंदौली के डीएम (जिला मजिस्ट्रेट) और उनके परिवार को मंदिर तक ले गए। यह देख पुजारियों ने भी पूजा करने को लेकर आगे बढ़े। जैसे मुख्य पुजारी अमित पाण्डेय अपने कुछ अन्य पुजारी के साथ मंदिर में जाने के लिए आगे बढ़े, पुलिकर्मियों ने उन्हें रोक लिया और उन्हें पीटना शुरू कर दिया। वीडियों में साफ है कि कई-कई पुलिसवाले पुजारी को घेर कर उन्हें पीट रहे हैं। इसे लेकर अब तक मामला दर्ज नहीं किए जाने पर देश भर के हिन्दू व ब्राह्मण समाज में व्यापक रोष है।

बताया जाता है कि चंदौली के जिलाधिकारी रविवार सुबह करीब 11 बजे पुलिस के साथ विंध्यवासिनी मंदिर में दर्शन करने पहुंचे। इसके बाद बच्चन परिवार के पुजारी अमित पांडे भी अन्य पुजारियों के साथ मंदिर पहुंचे, जिसे पुलिवालों ने रोका और उन्हें पीटा।

पीड़ित पुजारी के भाई सुमित पांडे ने कहा कि वे (अमित पांडे) अमिताभ बच्चन के परिवार और गांधी परिवार के लिए भी पूजा करते हैं। पुलिस ने जानबूझकर उन्हें मारा। हम समुदाय में बहुत सम्मानित हैं। पांडा समाज के पूर्व अध्यक्ष राजन पाठक ने इस घटना की निंदा की और कहा कि ईश्वर की नजर में प्रत्येक उपासक समान है। उन्होंने यह भी कहा कि मंदिर किसी के साथ भेदभाव नहीं करता है। परंतु, पुलिसवाले किसी विशेष अधिकारी की पूजा के लिए पुजारी को ही पीट दें, यह शर्मनाक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here